Published on: Tuesday August, 3rd 2021

इब्ने मसऊद (रज़ियल्लाहु अनहु) कहते हैं कि अल्लाह के रसूल (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) ने फ़रमायाः जो अल्लाह की किताब का कोई एक शब्द पढ़ेगा, उसे एक नेकी मिलेगी और नेकी दस गुणा तक दी जाती है। मैं यह नहीं कहता कि अलिफ़ लाम मीम मिल कर एक शब्द है, बल्कि अलिफ़ एक शब्द, लाम एक शब्द और मीम एक अलग शब्द है।

قَالَ رَسُولُ اللَّهِ ﷺ «مَنْ قَرَأ حَرْفاً مِنْ كِتاب الله فَلَهُ حَسَنَة، والحَسَنَة بِعَشْرِ أمْثَالِها، لا أقول: ألم حَرفٌ، ولكِنْ: ألِفٌ حَرْفٌ، ولاَمٌ حَرْفٌ، ومِيمٌ حَرْفٌ». أخرجه الترمذي

Other languages

English Turkish Russian Chinese

Other hadith

No envy except in two (cases)
869525
1930
Friday July, 16th 2021
The believer
501824
1998
Friday July, 16th 2021
Gratitude to Allah
311302
991
Friday July, 16th 2021

Why Islam

is the fastest growing religion in the world?!

Popular cards